आंध्र प्रदेश में फसलों का ऑनलाइन पंजीकरण शुरू हुआ

राज्य में रयुतु भरोसा केन्द्र (RBK) के तहत फसलों के मानचित्रण के लिए एक व्यापक अभ्यास 13 जुलाई, 2020  से आंध्र प्रदेश में शुरू हो गया है।

आंध्र प्रदेश सरकार के राजस्व और कृषि विभाग के अधिकारियों को राज्य में प्रत्येक किसान द्वारा बोई गई फसलों के विवरण को संयुक्त रूप से ऑनलाइन दर्ज करने का काम सौंपा गया है।

इलेक्ट्रॉनिक फसल पंजीकरण से प्राप्त आंकड़ों के आधार पर, फसलों के बीज उपलब्ध कराए जाएंगे या आपूर्ति की जाएगी। साथ ही, ऑनलाइन पंजीकरण के इस डेटा से राज्य सरकार को योजनाओं और पहलों में मदद मिलेगी जैसे ब्याज-मुक्त ऋण, फसल बीमा, रयुतु भरोसा, एमएसपी- न्यूनतम समर्थन मूल्य, आदि।

ऑनलाइन पंजीकरण (ई-फसल) के बारे में

  • ऑनलाइन पोर्टल के तहत किसान का नाम, उसके गाँव का विवरण, बैंक विवरण, संपर्क नंबर, खेती के लिए जमीन का क्षेत्रफल और किसान द्वारा खेती की जाने वाली फसल का विवरण पूछा जाएगा।
  • यदि भूमि का कृषक भूस्वामी के अलावा अन्य है, तो कृषक को एक CCRC- फसल संवर्धन पंजीकरण प्रमाणपत्र जारी किया जाएगा।
  • राज्य भर में मछली पालन जिस भूमि पर किया जाता है, उसे भी अलग से पंजीकृत किया जाएगा।

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , ,