आईसीआईसीआई बैंक की पूर्व सीईओ चंदा कोच्चर को जांच में दोषी पाया गया

चंदा कोच्चर ने अक्टूबर, 2018 में  आईसीआईसीआई बैंक के सीईओ के पद से इस्तीफ़ा दिया था। चंदा कोच्चर के विरुद्ध हितों के टकराव के सम्बन्ध में जांच की जा रही थीं। इस जांच में विडियोकॉन समूह को दिया गया 3,250 करोड़ रुपये का ऋण भी शामिल है। यह ऋण विडियोकॉन को 2012 में दिया गया था। विडियोकॉन के चेयरमैन में चंदा कोच्चर की पारिवारिक कंपनी NuPower Renewables में निवेश किया था।

स्वतंत्र जांच में यह पाया गया है कि चंदा कोच्चर ने आचार संहिता का उल्लंघन किया है। इस पर आईसीआईसीआई बैंक ने कहा है कि उनके इस्तीफे को बर्खास्तगी माना जाएगा और उन्हें मिलने वाले वित्तीय लाभ भी रोके जायेंगे। इससे चंदा कोच्चर को 9 करोड़ रुपये के बोनस को भी बैंक को वापस करना पड़ सकता है।

चंदा कोच्चर

चंदा कोच्चर का जन्म 17 नवम्बर, 1961 को राजस्थान के जोधपुर में हुआ था। वे देश की अग्रणी महिला बैंकर्स में से एक हैं। वे आईसीआईसीआई बैंक की पूर्व एमडी तथा सीईओ हैं। वे आईसीआईसीआई में 1984 में मैनेजमेंट ट्रेनी के रूप में शामिल हुई थीं। आईसीआईसीआई बैंक को शिखर तक पहुँचाने में उनकी भूमिका काफी महत्वपूर्ण रही। आईसीआईसीआई में करियर के दौरान चंदा कोच्चर ने विभिन्न पदों पर कार्य किया। 2009 में उन्हें आईसीआईसीआई बैंक का एमडी तथा सीईओ नियुक्त किया गया था।

आईसीआईसीआई बैंक

आईसीआईसीआई (इंडस्ट्रियल क्रेडिट एंड इन्वेस्टमेंट कारपोरेशन ऑफ़ इंडिया) बैंक भारत का बहुराष्ट्रीय बैंक है। इसकी स्थापना 1955 में की गयी थी। इसका मुख्यालय महाराष्ट्र के मुंबई में स्थित है। 2014 में मार्केट कैपिटलाइजेशन के आधार पर आईसीआईसीआई बैंक देश का तीसरा सबसे बड़ा बैंक था। आईसीआईसीआई बैंक की कुल 4,450 शाखाएं, यह भारत समेत 19 देशों में कार्य करता है। आईसीआईसीआई बैंक की शाखाएं अमेरिका, सिंगापुर, बहरीन, हांगकांग, श्रीलंका, क़तर, ओमान, चीन तथा दक्षिण अफ्रीका में है। इसके अलावा आईसीआईसीआई बैंक की सब्सिडियरी यूनाइटेड किंगडम और कनाडा में है।

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , , , , ,