आयकर विभाग ने शुरू की तत्काल ई-पैन कार्ड सेवा

आयकर विभाग ने PAN (स्थायी खाता संख्या) सेवा की याचिका करने वाले व्यक्तियों के लिए पहली बार तत्काल आधार-आधारित e-PAN आवंटन सेवा शुरू की है. यह सुविधा निःशुल्क और वैध आधार धारकों के लिए पहले आओ, पहले पाओ की तर्ज पर सीमित समय अवधि के लिए उपलब्ध है. पैन के लिए आवेदन करने वाले लोगों की संख्या बढ़ने के कारण यह सेवा प्रस्तुत की गयी है.

मुख्य तथ्य

e-PAN को आवेदक के आधार संख्या से जुड़े मोबाइल नंबर पर भेजे गए वन टाइम पासवर्ड (OTP) के आधार पर आवंटित किया जाएगा. इस e-PAN में आवेदक का नाम, जन्मतिथि, लिंग, मोबाइल नंबर और पता वही होगा जो उसके आधार में पहले से ही अंकित है. यह सेवा केवल निवासी व्यक्तियों के लिए होगी, न कि हिंदू अविभाजित परिवार (HUF), फर्मों, ट्रस्ट और कंपनियों के लिए. पहले ई-पैन आवेदक को उसके इलेक्ट्रॉनिक आधार सत्यापन प्रणाली के माध्यम से कुछ ही सेकंड में आवंटित कर दिया जाएगा तथा उसके बाद आवेदक को डाक द्वारा पैन कार्ड भेजा जाएगा. यह प्रक्रिया विभाग के आधिकारिक पोर्टल पर की जा सकती है.

PAN (Permanent Account Number) एक दस अंकों वाला एल्फान्यूमेरिक नंबर है, जो आयकर विभाग द्वारा कार्ड के रूप में जारी किया जाता है. पैन व्यक्तिगत या ट्रस्ट और कंपनियों के लिए अद्वितीय होता है, तथा पूरे भारत में मान्य भी होता है. यह किसी व्यक्ति के सभी लेनदेन को आयकर विभाग के साथ जोड़ने में सक्षम बनाता है.

Advertisement

Month:

Categories: ,

Tags: , , , , , ,