एआईआईबी ने भारत के 200 मिलियन डालर के निवेश को मंजूरी दी

एशियाई इंफ्रास्ट्रक्चर इंवेस्टमेंट बैंक (AIIB) ने मेगा इंफ्रास्ट्रक्चर परियोजनाओं को प्रोत्साहन देने के लिए भारत के राष्ट्रीय निवेश और बुनियादी ढांचे कोष (NIIF) में 200 मिलियन डालर के निवेश को मंजूरी दे दी है. अभी यह 100 मिलियन अमेरिकी डॉलर का निवेश करेगा और बाकी 100 मिलियन डॉलर का निवेश बाद में करेग.

मुख्य बातें

भारत में छह बुनियादी परियोजनाओं के लिए 1.2 बिलियन डालर को मंजूरी दे दी गई है. यह मंजूरी भारत को एआईआईबी का सबसे बड़ा धन प्राप्तकर्ता देश बनाती है. एआईबीबी का उद्देश्य एशिया-प्रशांत क्षेत्र में आधारभूत संरचना विकास और क्षेत्रीय कनेक्टिविटी परियोजनाओं को वित्त प्रदान करना है. इसके सदस्य राष्ट्रों की संख्या 83 हैं. चीन के बाद भारत एआईबी में दूसरा सबसे बड़ा शेयरधारक है. इसका मुख्यालय बीजिंग, चीन में स्थित है.

राष्ट्रीय निवेश और बुनियादी ढांचा फंड (NIIF)

एनआईआईएफ की स्थापना दिसंबर 2015 में देश के बुनियादी ढांचे क्षेत्र में वित्त पोषण को उत्प्रेरित करने के लिए की गई थी. यह श्रेणी II वैकल्पिक निवेश कोष के रूप में भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (SEBI) के साथ पंजीकृत है. इसे बुनियादी ढांचे के विकास को बढ़ावा देने के साथ-साथ निवेशकों के लिए जोखिम समायोजित रिटर्न उत्पन्न करने के उद्देश्य से फंड संरचना के निधि के रूप में स्थापित किया गया है.

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , ,