एयर कंडीशनर की डिफ़ॉल्ट सेटिंग के रूप में तापमान  24 डिग्री सेल्सियस

केंद्रीय ऊर्जा मंत्रालय कुछ महीनों के भीतर एयर कंडीशनर की अनिवार्य डिफ़ॉल्ट सेटिंग के रूप में तापमान को 24 डिग्री सेल्सियस करने का विचार कर रहा है. एयर कंडीशनिंग के क्षेत्र में ऊर्जा दक्षता को बढ़ावा देने के मानस से छह महीने के अभियान के बाद यह योजना बनाई गई है.

मुख्य तथ्य

यह अभियान जागरूकता बढ़ाने और दिशानिर्देशों को अपनाने के लिए प्रोत्साहित करने के उदेश्य से स्वैच्छिक आधार पर शुरू किया गया था. इसके परिणामस्वरूप ऊर्जा की पर्याप्त बचत होगी और ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन भी कम हो जाएगा. एयर कंडीशनर के तापमान में एक डिग्री की वृद्धि से परिणाम के रूप में 6% बिजली की बचत होती है. निर्माताओं द्वारा एयर कंडीशनर की इष्टतम तापमान सेटिंग से वित्तीय और स्वास्थ्य दोनों पक्षों से उपभोक्ताओं का लाभ होगा. इसके परिणामस्वरूप प्रति वर्ष 20 अरब यूनिट बिजली की बचत होगी.

वैज्ञानिक कारण

मानव शरीर का सामान्य तापमान लगभग 36-37 डिग्री सेल्सियस होता है जबकि बड़ी संख्या में व्यावसायिक प्रतिष्ठानों जैसे होटल और कार्यालयों आदि में एयर कंडीशनर 18-21 डिग्री सेल्सियस के आसपास कम तापमान पर रखा जाता है जो कि असुविधाजनक ही नहीं बल्कि स्वास्थ्य के लिए भी उचित नहीं है. 18-21 डिग्री सेल्सियस के तापमान पर लोगों को गर्म कपड़े पहनने पड़ते हैं जिसके परिणामस्वरूप वास्तव में यह ऊर्जा की बर्बादी ही है.

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , , ,