ऑक्सफेम वार्षिक संपत्ति रिपोर्ट 2019 : मुख्य बिंदु

हाल ही में ऑक्सफेम वार्षिक संपत्ति रिपोर्ट 2019 जारी की गयी। इस रिपोर्ट के जारी होने के साथ ही दावोस में विश्व आर्थिक फोरम की शुरुआत हुई। इस रिपोर्ट के मुख्य बिंदु निम्नलिखित हैं :

  • विश्व के 26 अरबपतियों के पास विश्व की आधी निर्धन जनसँख्या (3.8 अरब लोग) के जितनी संपत्ति है।
  • 2018 में संपन्न लोगों की सम्पन्नता में वृद्धि हुई जबकि निर्धन लोगों की निर्धनता में वृद्धि हुई।
  • संपत्ति के असमान वितरण से निर्धनता को समाप्त करने में काफी समस्या उत्पन्न हो रही है।
  • 2018 में 2200 से अधिक अरबपतियों की संपत्ति में 900 अरब डॉलर की वृद्धि हुई।
  • विश्व की सबसे अमीर व्यक्ति जेफ बेजोस की कुल परिसंपत्ति 112 अरब डॉलर है, इथियोपिया नामक देश का स्वास्थ्य बजट जेफ़ बेजोस की कुल परिसंपत्ति के केवल 1% के बराबर है।
  • पिछले दस वर्षों में अरबपतियों की संख्या लगभग दोगुनी हो गयी है। 2017-18 के दौरान प्रत्येक दो दिन में कोई नया व्यक्ति अरबपति बना।

भारत में असमानता

  • भारत के 1% अमीर लोगों की परिसंपत्ति में 39% वृद्धि हुई, जबकि देश के सबसे निर्धन वर्ग की परिसंपत्ति में मात्र 3% की वृद्धि हुई।
  • पिछले एक वर्ष में भारतीय अरबपतियों की सम्पदा में प्रतिदिन 2200 करोड़ रुपये की वृद्धि है।
  • भारत के सबसे निर्धन वर्ग में 6 करोड़ लोग शामिल हैं, वे 2004 से ऋण में हैं।
  • भारत के सबसे अमीर 10% लोगों के पास कुल राष्ट्रीय आय का 77.4% हिस्सा है।
  • स्वास्थ्य, स्वच्छता तथा जल आपूर्ति के लिए केंद्र तथा राज्य सरकारों का कुल राजस्व व पूंजीगत व्यय  2,08,166 करोड़ रुपये है, यह मुकेश अम्बानी की कुल परिसंपत्ति 2.8 लाख करोड़ रुपये से कम है।
  • भारत समेत कई देशों में गुणवत्ता युक्त शिक्षा काफी महंगी हो गयी है।

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , , ,