केरल में स्थापित किया जायेगा चक्रवात चेतावनी केंद्र

केन्द्रीय पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय ने केरल की राजधानी तिरुवनंतपुरम में चक्रवात चेतावनी केंद्र स्थापित करने की घोषणा की है। इसके अलावा कर्नाटक के मंगलोर में सी-बैंड डॉपलर मौसम राडार स्थापित करने की घोषणा की गयी। हाल ही में हुई भारी वर्षा के कारण यह फैसला लिया गया है ताकि भविष्य में ख़राब मौसम से होने वाले जान-माल के नुकसान से बचा जा सके।

चक्रवात चेतावनी केंद्र

यह चेतावनी केंद्र सभी आधुनिक उपकरणों से सुसज्जित होगा, यहाँ से रोजाना मौसम की जानकारी तथा ख़राब मौसम सम्बन्धी चेतावनी जारी की सकेगी। एक लगभग एक महीने के बाद कार्य करना शुरू करेगा। यह केंद्र केरल और कर्नाटक के लिए मौसम सम्बन्धी जानकारी मुहैया करवाएगा।

वर्तमान में भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के 6 चक्रवात चेतावनी केंद्र हैं, इनमे से चार पूर्वी तट में चेन्नई (तमिलनाडू), विशाखापत्तनम (आंध्र प्रदेश), भुबनेश्वर (ओडिशा) और कलकत्ता (पश्चिम बंगाल) में स्थिति है। जबकि दो चक्रवात चेतावनी केंद्र पश्चिमी तट में अहमदाबाद (गुजरात) और मुंबई (महाराष्ट्र) में स्थित है।

सी-बैंड डॉपलर मौसम राडार

यह मौसम राडार कर्नाटक के मंगलोर में स्थापित किया जायेगा। इसके द्वारा ख़राब मौसम के बारे में अलर्ट जारी किये जा सकेंगे। इस राडार के द्वारा उत्तरी और कर्नाटक के क्षेत्र को कवर किया जायेगा। वर्तमान में केरल में दो डॉपलर राडार कोच्ची और तिरुवनंतपुरम में स्थित हैं, यह राडार मध्य व दक्षिणी जिलों को कवर किया जायेगा। इस नए राडार से पूरे केरल को कवर किया जा सकेगा।

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , ,