गैरसैण को उत्तराखंड की ग्रीष्मकालीन राजधानी घोषित किया गया

8 जून, 2020 को उत्तराखंड की राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने गैरसैण को नई ग्रीष्मकालीन राजधानी घोषित करने के लिए मंज़ूरी दी। गैरसैण को भरारीसैण भी कहा जाता है।

मुख्य बिंदु

गैरसैण में एक ई-विधान सभा होगी। विश्व पर्यावरण दिवस पर यह घोषणा की गई थी। राज्य की विधान सभा शीतकालीन राजधानी देहरादून में स्थित है। उत्तराखंड के कार्यकर्ता चाहते थे कि गैरसैण उत्तराखंड राज्य की राजधानी बनें।  कार्यकर्त्ताओं ने गैरसैण को राजधानी बनाने का सुझाव दिया क्योंकि यह कुमाऊँ और गढ़वाल क्षेत्रों की सीमा पर पड़ रहा था। यह शहर चमोली जिले में स्थित है और देहरादून से 250 किमी दूर है। यह गढ़वाल मंडल की प्रशासनिक सीमा के अंतर्गत आता है। कुमाऊं की सीमा गैरसैण से 15 किमी की दूरी पर शुरू होती है।

उत्तराखंड

उत्तराखंड राज्य का गठन भारत के 27वें राज्य के रूप में किया गया था। राज्य का गठन उत्तर प्रदेश पुनर्गठन अधिनियम, 2000 के माध्यम से किया गया था। राज्य में प्रसिद्ध पर्यटक आकर्षण में नंदा देवी और वैली ऑफ़ फ्लावर्स नेशनल पार्क शामिल हैं। यह यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थल है। राज्य में रामगंगा नदी भी है। यह नदी दूधातोली पर्वत पर अपनी यात्रा शुरू करती है।

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , , ,