ग्रेट इंडियन बस्टर्ड (गोदावण) को अप्रवासी वन्यजीवों की प्रजाति पर COP-13 का शुभंकर बनाया गया

ग्रेट इंडिया बस्टर्ड (गोदावण) को अप्रवासी पक्षियों की प्रजाति पर COP-13 (कांफ्रेंस ऑफ़ पार्टीज) का शुभंकर बनाया गया। इस सम्मेलन का आयोजन अगले वर्ष गुजरात में किया जायेगा। हाल ही में केन्द्रीय पर्यावरण, वन तथा जलवायु परिवर्तन मंत्री हर्षवर्धन ने 13वें कांफ्रेंस ऑफ़ पार्टीज के लोगो, शुभंकर तथा वेबसाइट को लांच किया। इस इवेंट के लिए शुभंकर ग्रेट इंडिया बस्टर्ड को “गिबी” नाम दिया गया है।

प्रवासी वन्य जीवों की प्रजातियों के संरक्षण के लिए सम्मेलन (CMS)

CMS संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम के तहत एक अंतर्राष्ट्रीय संधि है। इसे बोन कन्वेंशन के नाम से भी जाना जाता है। CMS का उद्देश्य थलीय, समुद्री तथा उड़ने वाले अप्रवासी जीव जंतुओं का संरक्षण करना है। इस कन्वेंशन के द्वारा अप्रवासी वन्यजीवों तथा उनके प्राकृतिक आवास पर विचार विमर्श के लिए एक वैश्विक प्लेटफार्म तैयार होता है।

इस संधि पर 1979 में जर्मनी के बोन में हस्ताक्षर किये गये थे। यह संधि 1983 में लागू हुई थी। इसमें अफ्रीका, मध्य तथा दक्षिण अमेरिका, एशिया, यूरोप तथा ओशनिया के 120 हितधारक (स्टेकहोल्डर) शामिल हैं।

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , , , ,