चुनाव आयोग ने मीडिया के लिए एडवाइजरी जारी की

हाल ही में चुनाव आयोग ने मीडिया के लिए चुनावों से सम्बंधित एग्जिट पोल तथा परिणाम के प्रकाशन के सम्बन्ध में एडवाइजरी जारी की है।

चुनाव आयोग के दिशानिर्देश

  • जन प्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 के सेक्शन 126 A के मुताबिक एग्जिट पोल चुनाव के अंतिम चरण के पूरा हो जाने के बाद दिखाए जा सकते हैं। 19 मई को अंतिम चरण के चुनावों के बाद ही एग्जिट पोल दिखाए  जा सकेंगे।
  • यह एडवाइजरी आंध्र प्रदेश, अरुणाचल प्रदेश, ओडिशा तथा सिक्किम के विधानसभा चुनावों के लिए भी लागू होगी।
  • चुनाव आयोग ने टीवी. रेडियो चैनल, केबल नेटवर्क, वेबसाइट्स तथा सोशल मीडिया प्लेटफार्म को चुनाव से सम्बंधित सामग्री का प्रकाशन न करने के लिए कहा है।
  • यदि कोई प्रसारक इस एडवाइजरी का उल्लंघन करता है तो इसकी रिपोर्ट चुनाव आयोग द्वारा समाचार प्रसारण मानक प्राधिकारी (NBSA) को की जायेगी।
  • समाचार प्रसारकों को तब तक अंतिम परिणाम घोषित न करने के लिए कहा गया है जब तक कि चुनाव आयोग अधिकारिक रूप से अंतिम परिणाम की घोषणा नहीं कर देता।

भारतीय चुनाव आयोग

भारतीय चुनाव आयोग एक स्वायत्त व संवैधानिक संस्था है, इसका कार्य देश में विभिन्न स्तर के चुनाव करवाना है। चुनाव आयोग देश में लोक सभा, राज्य सभा, राज्य विधानसभाओं, राष्ट्रपति तथा उप-राष्ट्रपति के चुनाव करवाता है। भारतीय चुनाव आयोग संविधान के अनुच्छेद 324 के तहत कार्य करता है। भारतीय चुनाव आयोग की स्थापना 25 जनवरी, 1950 को की गयी थी, देश के पहले मुख्य चुनाव आयुक्त सुकुमार सेन थे। भारत के वर्तमान मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा हैं। चुनाव आयोग का मुख्यालय नई दिल्ली में स्थित है।

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , , ,