तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने हरिता हरम कार्यक्रम के छठे चरण को लांच किया

हरिता हरम राज्य में वृक्षों की संख्या को बढ़ाने के लिए तेलंगाना द्वारा क्रियान्वित एक वृक्षारोपण कार्यक्रम है। तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने हाल ही में हरिता हरम कार्यक्रम के छठे चरण का शुभारंभ किया है। उन्होंने नरसापुर शहरी वन उद्यान का भी उद्घाटन किया और नरसापुर वन क्षेत्र में कार्यान्वित किए जा रहे वन पुनरुद्धार कार्यक्रम की जांच की।

इस कार्यक्रम के छठे चरण के तहत, राज्य भर में 30 करोड़ पौधे लगाने का लक्ष्य रखा गया है। मेदक जिले में 30 करोड़ में से 50 लाख पौधे लगाए जाएंगे। राज्य में बड़े पैमाने पर वृक्षारोपण कार्यक्रम ने रोजगार पैदा किया है क्योंकि राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना (एनआरईजीएस) के तहत पौधे रोपने के लिए गड्ढे खोदे गए हैं।

हरिता हरम कार्यक्रम

यह कार्यक्रम 3 जुलाई, 2015 को तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव द्वारा  शुरू किया गया था। इस कार्यक्रम के माध्यम से, तेलंगाना सरकार ने राज्य भर में कुल 230 करोड़ पौधे लगाकर राज्य में वन आवरण को 24 प्रतिशत (2015 के रिकॉर्ड के अनुसार) से 33 प्रतिशत तक बढ़ाने का लक्ष्य रखा है।

रिकॉर्ड के अनुसार, राज्य भर में कुल 182 करोड़ पौधे लगाए गए हैं। वन, नगरपालिका प्रशासन, पंचायती राज और ग्रामीण विकास आदि जैसे विभागों की मदद से राज्य भर में पौधे लगाए जाते हैं।

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , , ,