पशुपालन अवसंरचना विकास निधि : कार्यान्वयन दिशानिर्देश जारी किये गये

16 जुलाई, 2020 को केंद्रीय मत्स्य पालन, पशुपालन और डेयरी मंत्री ने पशुपालन अवसंरचना विकास निधि (AHIDF) के लिए दिशा-निर्देश लांच किए।

मुख्य बिंदु

यह फंड 2024 तक दूध उत्पादन को 330 मिलियन टन तक बढ़ाने में मदद करेगा। भारत सरकार दूध प्रसंस्करण को 40% तक बढ़ाने की योजना बना रही है। AHIDF डेयरी  और मांस प्रसंस्करण के लिए बुनियादी ढाँचा स्थापित करने के लिए निवेश को प्रोत्साहित करने की सुविधा प्रदान करेगा।

एएचआईडीएफ के बारे में (Animal Husbandry Infrastructure Development Fund)

आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत, AHIDF के लिए केंद्रीय मंत्रिमंडल द्वारा 15,000 करोड़ रुपये मंजूर किए गए। भारत सरकार ने डेयरी क्षेत्र में लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए 750 करोड़ रुपये की ऋण गारंटी निधि की स्थापना की है। इसका प्रबंधन नाबार्ड द्वारा किया जायेगा।

SIDBI

SIDBI के तहत काम करने वाले उद्यमी पोर्टल को ऑनलाइन पंजीकरण करने के लिए पहल के लाभार्थियों के लिए खोला गया है। लाभार्थियों में मुख्य रूप से डेयरी और मांस प्रसंस्करण इकाइयां स्थापित करने के इच्छुक लोग शामिल हैं।

पृष्ठभूमि

वर्तमान में भारत 188 मिलियन टन दूध का उत्पादन कर रहा है। इसमें से केवल 20% से 25% प्रसंस्करण क्षेत्र के अंतर्गत आ आता है। भारत सरकार देश की उत्पादन क्षमता और प्रसंस्करण क्षमता बढ़ाने की कोशिश कर रही है।

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , ,