प्रधानमंत्री मोदी ने अरुणाचल प्रदेश में सेला सुरंग की आधारशिला रखी

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अरुणाचल प्रदेश में सेला टनल प्रोजेक्ट की आधारशिला सेला दर्रे के पास रखी।

सेला दर्रा

सेला दर्रा एक ऊंचाई वाला परिवर्तीय दर्रा है, यह दर्रा अरुणाचल प्रदेश में तवांग तथा पश्चिम कामेंग जिलों की सीमा पर स्थित है। यह दर्रा तवांग को शेष भारत से जोड़ता है।

सेला सुरंग परियोजना के प्रमुख तथ्य

  • इस सुरंग का निर्माण सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) द्वारा किया जाएगा।
  • इस परियोजना की घोषणा केन्द्रीय बजट 2018 में अरुण जेटली ने की थी।
  • इस परियोजना को 687 करोड़ रुपये की लागत से पूरा किया जायेगा, यह परियोजना तीन वर्षों में पूरी हो जाएगी।
  • इस परियोजना के तहत 12.04 किलोमीटर की दूरी की सड़क का निर्माण किया जायेगा, इसमें 1790 मीटर तथा 475 मीटर की दो सुरंगे भी शामिल हैं।
  • इस परियोजना के पूरा होने के बाद तेजपुर और तवांग के बीच यात्रा के समय एक घंटे की कमी हो जाएगी।
  • यह सुरंग परियोजना सेना के लिए भी काफी उपयोगी है। इससे आल-वेदर कनेक्टिविटी के साथ यात्रा के समय में भी कमी होगी।
  • इस सुरंग से उत्तर-पूर्वी राज्यों में पर्यटन उद्योग को बढ़ावा मिलेगा और आर्थिक गतिविधियाँ भी तीव्र होंगी।

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , , , , , , ,