प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने धरोहर भवन का किया उद्घाटन

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने नई दिल्ली, तिलक मार्ग में भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (ASI) की नई मुख्यालय इमारत ‘धरोहर भवन’ का उद्घाटन किया.

धरोहर भवन

एएसआई की नई मुख्यालय इमारत ऊर्जा कुशल प्रकाश व्यवस्था और वर्षा जल संचयन समेत कई अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस है. यह मुख्यालय अजंता, एलोरा और पुरातात्विक महत्व के कई स्थलों से संबंधित दुर्लभ पोर्टफोलियो की मेजबानी करता है. इसमें लगभग डेढ़  लाख किताबें और पत्रिकाओं के संग्रह के साथ केंद्रीय पुरातत्व पुस्तकालय शामिल है. यह भारत और दुनिया में मूल्यवान पुरातात्विक खजाना कोष भी आयोजित करता है. इसमें पुरातत्व, इंडोलॉजी, एपिग्राफी, भारतीय संस्कृति और इसके अतीत, आदि पर पुस्तकों का बड़ा संग्रह है. इसमें पुरातात्विक से संबंधित प्रामाणिक रिकॉर्ड भी मौजूद हैं, जैसे एएसआई रिपोर्ट, अलेक्जेंडर कनिंघम (एएसआई के संस्थापक), जॉन मार्शल इत्यादि की डायरी. इसमें भारत की सांस्कृतिक विरासत तथा अनेक धार्मिक किताबों का मूल संग्रह भी है, जैसे हिंदुओं की धार्मिक पुस्तकें, मनुस्मृति, कौटिल्य अर्थशास्त्र पर पवित्र पुस्तकें.

भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (ASI)

एएसआई पुरातात्विक शोध और देश की सांस्कृतिक विरासत की सुरक्षा के लिए प्रमुख संगठन है. इसका मुख्य उद्देश्य पुरातात्विक स्थलों, प्राचीन स्मारकों और राष्ट्रीय महत्व के अवशेषों को बनाए रखना है. यह 1861 में अलेक्जेंडर कनिंघम द्वारा स्थापित किया गया था. एएसआई प्राचीन स्मारकों और पुरातात्विक स्थलों और अवशेष अधिनियम, 1958 के प्रावधानों के अनुसार सभी पुरातात्विक गतिविधियों को नियंत्रित करता है. यह संस्कृति मंत्रालय के अधीन कार्य करता है.

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , , ,