भारत को जानों कार्यक्रम

भारत को जानें कार्यक्रम विदेशों में रह रहे भारतीय युवाओं हेतु तीन सप्ताह का अभिमुखीकरण कार्यक्रम है इसका उद्देश्य प्रतिभागियों के मध्य भारतीय जीवन के विविध आयामों पर जागरूकता का सृजन करना और उन्हें देश द्वारा विभिन्न क्षेत्रों जैसे आर्थिक, औद्योगिक, शिक्षा, विज्ञान और प्रौद्योगिकी, संचार और सूचना प्रौद्योगिकी, संस्कृति में हासिल की गई प्रगति के बारे में जानकारी प्रदान करना है। यह भारतीय मूल के छात्रों और युवा वृत्तिकों के लिए भारत का भ्रमण करने, अपने विचारों, आकांक्षाओं और अनुभवों का आदान-प्रदान करने तथा समकालीन भारत के साथ घनिष्ट संबंध विकसित करने के लिए एक अनूठा मंच प्रदान करता है। एक अथवा दो राज्य सरकारों के साथ भागीदारी करते हुए प्रत्येक वर्ष ऐसे चार-पांच कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं।

विदेशों में स्थित भारतीय मिशनों तथा पोस्टों के प्रमुखों से प्राप्त सिफारिशों के आधार पर 18 से 26 वर्ष के आयु-वर्ग में 35 भारतीय मूल के विदेशी युवाओं को प्रत्येक कार्यक्रम हेतु चुना जाता है। और इन प्रतिभागियों को कार्यक्रम की अवधि के दौरान भारत में पूर्ण आथित्य-सत्कार प्रदान किया जाता है। प्रतिभागियों द्वारा कार्यक्रम की सफलतापूर्वक समाप्ति कर लिए जाने पर उन्हें हवाई टिकट की कुल लागत की 90 प्रतिशत राशि की वापसी की जाती है।

कार्यक्रम की विषय-वस्तु में निम्नलिखित शामिल है

1) राजनीतिक प्रक्रिया,देश, विभिन्न क्षेत्रों में हुए विकास पर प्रस्तुतीकरण
2) किसी खास विश्वविद्यालय/कालेज/संस्थान में संकाय और छात्रों के साथ संपर्क
3) औद्योगिक विकास पर प्रस्तुतीकरण और उद्योग का दौरा
4) खास ग्रामीण जीवन को बेहतर रूप से समझने के लिए किसी गांव का दौरा
5) भारतीय मीडिया का अनुभव
6) महिला मामलों के क्षेत्र में कार्य करने वाले एनजीओ और संगठनों के साथ मुलाकात
7) ऐतिहासिक महत्व के स्थलों/स्मारकों का दौरा
8) सांस्कृतिक कार्यक्रमों में प्रतिभागिता
9) योग से जुड़ा अनुभव
10) गण्यमान्य व्यक्तियों से भेंट जिनमें भारत के राष्ट्रपति, भारत के मुख्य निर्वाचन आयुक्त, भारत के नियंत्रक-महालेखा परीक्षक, युवा मामले और खेल मंत्रालय के प्रभारी मंत्री शामिल हैं।

अब तक प्रवासी भारतीय कार्य मंत्रालय द्वारा 24 भारत को जानें कार्यक्रम आयोजित किए गए हैं तथा इन कार्यक्रमों में विदेशों में रह रहे 729 भारतीय युवाओं ने भाग लिया है।

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , ,