भारत-दक्षिण कोरिया प्रौद्योगिकी विनिमय केंद्र का उद्घाटन नई दिल्ली में

नई दिल्ली के राष्ट्रीय लघु उद्योग निगम परिसर में भारत-कोरिया प्रौद्योगिकी विनिमय केंद्र का उद्घाटन किया गया. इसका उद्घाटन राज्य मंत्री (I / C) MSME गिरिराज सिंह और SME मंत्री और दक्षिण कोरिया गणराज्य के स्टार्ट-अप, हांग जोंग-हाक द्वारा किया गया.

भारत-कोरिया प्रौद्योगिकी विनिमय केंद्र

प्रौद्योगिकी विनिमय केंद्र का उद्देश्य भारत और दक्षिण कोरिया के सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों (MSME) के लिए मंच निर्माण करना है. जहां उन्हें नवीनतम प्रौद्योगिकियों की पहचान और विनिमय, प्रबंधन विशेषज्ञता, उत्पाद विकास और उत्पाद विकास के लिए प्रौद्योगिकी अनुप्रयोगों का आदान-प्रदान करने में सहायता की जा सकती है. यह केंद्र भारतीय प्रौद्योगिकियों की पहचान में कार्यरत्त रहेगा जिसका निर्यात कोरिया को किया जा सकता है और इसके लिए उपयुक्त कोरियाई साझेदार ढूंढ सकता है. यह एमएसएमई क्षेत्र में एक दूसरे की ताकत की सराहना करते हुए विभिन्न सहकारी एमएसएमई परियोजनाएं भी शुरू करेगा. यह प्रौद्योगिकी हस्तांतरण को प्रोत्साहित करने तथा भारत में उच्च गुणवत्ता वाले उत्पादों के उत्पादन को प्रोत्साहित करने के लिए प्रौद्योगिकी डेटा बैंक भी बनाएगा. एमएसएमई क्षेत्र में सहयोग हेतु कोरिया के स्माल बैंक कारपोरेशन (SBC) और राष्ट्रीय लघु उद्योग निगम (NSIC) के बीच भी एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए. तथा नई दिल्ली के NSIC परिसर में भारत-कोरिया प्रौद्योगिकी विनिमय केंद्र की स्थापना की गई है.

Advertisement

Month:

Categories: ,

Tags: , , , , ,