भारत ने रमेश चंद को खाद्य व कृषि संगठन के लिए मनोनीत किया

भारत ने रमेश चंद को खाद्य व कृषि संगठन के लिए मनोनीत किया है। रमेश चंद को चीन के कु दोंग्यु, कैमरून के मेडी मौन्गुई, फ्रांस की केथरीन गेस्लें-लेनीले तथा जॉर्जिया के डेवित किर्वलिद्ज़े की चुनौती का सामना करना पड़ेगा। खाद्य व कृषि संगठन के महानिदेशक के पद पर चुने जाने के लिए उम्मीदवारको 194 सदस्यों में साधारण बहुमत प्राप्त करना होगा। खाद्य व कृषि संगठन का नेतृत्व करने वाले एकमात्र भारतीय बिनय रंजन सेन थे, वे 1956 से 1967 के बीच खाद्य व कृषि संगठन के महानिदेशक रहे।

खाद्य व कृषि संगठन (FAO)

यह एक संयुक्त राष्ट्र की संस्था है, यह संयुक्त राष्ट्र आर्थिक व सामजिक परिषद् के अधीन कार्य करती है। इसकी स्थापना 16 अक्टूबर, 1945 को की गयी थी। इसका मुख्यालय इटली के रोम में स्थित है। शुरुआत में इसका मुख्यालय अमेरिका के वाशिंगटन में था, बाद में 1951 में इसे इटली के रोम में स्थानांतरित किया दिया गया। वर्तमान में इसके कुल 194 सदस्य हैं। यह संगठन लोगों के स्वस्थ जीवन के लिए उच्च गुणवत्ता युक्त भोजन उपलब्ध करवाने के लिए प्रयास करता है। खाद्य व कृषि संगठन के प्रमुख कार्य निम्नलिखित हैं :

भूखमरी, कुपोषण तथा खाद्य असुरक्षा को समाप्त करना।

कृषि, वानिकी तथा मतस्य पालन को अधिक उत्पादक तथा सतत बनाना।

ग्रामीण निर्धनता को कम करना।

कृषि तथा खाद्य प्रणाली को कुशल तथा समावेशी बनाना।

आजीविका पर खतरों के विरुद्ध प्रतिरक्षा को मज़बूत करना।

खाद्य व कृषि संगठन की रिपोर्ट के अनुसार विश्व में लगभग 800 भूखमरी से पीड़ित हैं, जबकि 2 अरब लोग डाइट में सूक्ष्म पोषक तत्वों की कमी के कारण होने वाली स्वास्थ्य समस्याओं से पीड़ित हैं। इस रिपोर्ट के अनुसार 2050 में विश्व में 10 अरब लोगों के लिए खाद्य आपूर्ति सुनिश्चित करनी होगी।

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , , , ,