भारत 2020 में प्रति व्यक्ति जीडीपी में बांग्लादेश से पिछड़ जायेगा : अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष

अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) ने 13 अक्टूबर, 2020 को विश्व आर्थिक आउटलुक (WEO) जारी किया है। इस रिपोर्ट के अनुसार, भारत 2020 में प्रति व्यक्ति सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के मामले में बांग्लादेश से नीचे खिसक जाएगा। नवीनतम रिपोर्ट में कहा गया है कि बांग्लादेश के 2020 में 4% से वृद्धि करने की सम्भावना है। इसमें यह कहा गया है कि, भारतीय अर्थव्यवस्था कोरोनावायरस लॉकडाउन के कारण संकुचन का सामना कर रही है।

रिपोर्ट के मुख्य बिंदु

  • इस रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत की अर्थव्यवस्था 2020 में 3% तक संकुचित होगी। ब्रिक्स राष्ट्र के बीच भारत की विकास दर सबसे धीमी होगी।यह चार वर्षों में भारत की सबसे कम वृद्धि है।
  • इसने जून 2020 की तुलना में दुनिया के विकास अनुमानों को 8% तक संशोधित किया है।
  • 2020 में, भारत में उपभोक्ता मूल्य 9% बढ़ेगा, जबकि 2021 में इसमें 3.7% वृद्धि होगी।
  • इस रिपोर्ट के अनुसार पाकिस्तान और नेपाल के साथ भारत दक्षिण एशिया का तीसरा सबसे गरीब देश होगा।बांग्लादेश, भूटान, मालदीव और श्रीलंका को भारत से ऊपर रखा गया है।
  • इस रिपोर्ट में कहा गया है कि श्रीलंका के बाद दक्षिण एशिया में COVID-19 महामारी से भारत की अर्थव्यवस्था सबसे ज्यादा प्रभावित हुई है।
  • 2020 में श्रीलंका की प्रति व्यक्ति जीडीपी में 4% तक की कमी होने का अनुमान लगाया गया है।

2021 में स्थिति

2021 के पूर्वानुमानों की रिपोर्ट में कहा गया है कि भारतीय अर्थव्यवस्था में तेज आर्थिक सुधार होगा। भारत की जीडीपी 2021 में 8.8% तक बढ़ेगी। इस प्रकार, यह 2021 में भारत को बांग्लादेश की प्रति व्यक्ति जीडीपी 5.4% से आगे बढ़ा देगा।

अंतर्राष्ट्रीय अनुमान

IMF की नवीनतम रिपोर्ट ने 2020 में एक गहरी मंदी का अनुमान लगाया है। इसने वैश्विक वृद्धि दर के -4.4% रहने का अनुमान लगाया है।

अनुशंसाएँ

इस रिपोर्ट में सिफारिश की गई है कि 12 ट्रिलियन अमरीकी डालर के वैश्विक राजकोषीय समर्थन की आवश्यकता है जिसे परिसंपत्ति खरीद, तरलता वृद्धि और केंद्रीय बैंक द्वारा दर में कटौती के माध्यम से उपयोग किया जा सकता है। इसने देशो को COVID-19 टीकों के उपचार और परीक्षणों पर सहयोग करने का भी सुझाव दिया है।

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , , ,