रचना खैरा ने जीता रेड इंक अवार्ड

ट्रिब्यून न्यूज़ सर्विस की पत्रकार रचना खैरा ने हाल ही में रेड इंक का “जौर्नालिस्ट ऑफ़ द ईयर” का अवार्ड जीता, उन्हें यह पुरस्कार आधार कार्ड के डाटा की सुरक्षा की स्थिति का खुलासा करने के लिए दिया गया है। रचना खैरा वर्तमान में द हफिंगटन पोस्ट के लिए कार्य करती हैं।

मुख्य बिंदु

रचना खैरा द्वारा की गयी जांच से ज्ञात हुआ कि लाखों लोगों के आधार कार्ड डाटा में सेंध लगायी जा सकती है। पत्रकारों द्वारा किये गये स्टिंग ऑपरेशन से स्पष्ट है कि UIDAI सर्वर पूर्ण रूप से सुरक्षित नही है। इन रिपोर्ट्स के आधार पर कई जनहित याचिकाएं दायर की गयी।

रेडलिंक अवार्ड फॉर एक्सीलेंस इन इंडियन जर्नलिज्म

इस पुरस्कारों की स्थापना “द मुंबई प्रेस क्लब” द्वारा 2010 में की गयी थी, यह वार्षिक पुरस्कार हैं। यह पुरस्कार पत्रकारिता के क्षेत्र में बेहतरीन योगदान के लिए प्रदान किया जाता है।

इस वर्ष 2019 लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड दो वरिष्ठ सेवानिवृत पत्रकारों – दिनु रणदिव और सेबेस्टियन डी’सूज़ा को प्रदान किया गया। दिनु रणदिव महाराष्ट्र टाइम्स के सेवानिवृत्त पत्रकार हैं। उन्होंने अपने करियर में गोवा स्वतंत्रता संग्राम (1961, बांग्लादेश स्वतंत्रता संग्राम (1970-71) तथा सीमेंट स्कैंडल (1982) जैसी घटनाओं को कवर किया। सेबेस्टियन डी’सूजा ने मुंबई मिरर में फोटो जौर्नालिस्ट के रूप में कार्य किया।

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , , ,