रमेश चंद टास्क फोर्स ने गन्ना मूल्य को चीनी दरों से जोड़ने की सिफारिश की

नीती आयोग की रमेश चंद टास्क फोर्स ने गन्ने की कीमतों को चीनी दरों से जोड़ने की सिफारिश की है। टास्क फोर्स ने इस बात पर प्रकाश डाला कि उद्योग को एक अच्छे वित्तीय स्वास्थ्य में रखना आवश्यक है। टास्क फोर्स ने अपनी रिपोर्ट में न्यूनतम चीनी की कीमत में 33 रुपये प्रति किलोग्राम की एकमुश्त बढ़ोतरी की सिफारिश की है। टास्क फोर्स की इस रिपोर्ट को मार्च 2020 में अंतिम रूप दिया गया और 20 अगस्त को प्रकाशित किया गया।

गन्ना मूल्य पर रमेश चंद टास्क फोर्स की रिपोर्ट

  • एक प्रमुख बिंदु के रूप में, पैनल ने गन्ना मूल्य को चीनी दरों से जोड़ने की सिफारिश की।
  • गन्ने की खेती वाले क्षेत्रों को किसानों को प्रोत्साहन प्रदान करके कम पानी वाली फसलों में स्थानांतरित किया जाना चाहिए। वर्तमान में गन्ने की खेती का क्षेत्र लगभग 3 लाख हेक्टेयर है और इससे लगभग 20 लाख टन गन्ने की पैदावार होती है।
  • पैनल ने सुझाव दिया कि किसानों को कम पानी वाली सघन फसलों के लिए प्रोत्साहन लगभग 6,000 रुपये प्रति हेक्टेयर होना चाहिए।
  • किसानों को उनके गन्ना उत्पादन के उचित मूल्य प्राप्त करने में मदद करने के लिए रेवेन्यू शेयरिंग फॉर्मूला (RSF) शुरू किया जाना चाहिए।
  • एक मूल्य स्थिरीकरण कोष भी शुरू किया जाना चाहिए। छह महीने में गन्ने के न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) की समीक्षा की जानी चाहिए।
  • पैनल ने 3 साल की अवधि के लिए चीनी पर 50 रुपये प्रति क्विंटल की दर से उपकर लगाने की सिफारिश की, जिससे निधि के लिए लगभग 4,500 करोड़ रुपये जोड़े जा सकते हैं, जिसका उपयोग किसानों की वित्तीय स्थिति को बेहतर बनाने के लिए किया जा सकता है।

नीति आयोग

नेशनल इंस्टीट्यूशन फॉर ट्रांसफॉर्मिंग इंडिया या नीति आयोग भारत सरकार का थिंक टैंक है, जिसका गठन 1 जनवरी, 2015 को किया गया था। इस आयोगके अध्यक्ष प्रधानमंत्री हैं और वर्तमान में वाइस चेयरपर्सन राजीव कुमार हैं।

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , ,