राजस्थान का पहला मेगा फूड पार्क अजमेर में स्थापित

अजमेर में रूपनगण गाँव में राजस्थान के पहले मेगा फूड पार्क का केंद्रीय उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्रालय द्वारा उद्घाटन किया गया। अजमेर और पड़ोसी ज़िलों के लगभग 25 हज़ार किसानों को 113.57 करोड़ रुपए की लागत से बने इस मेगा फूड पार्क से लाभ मिलेगा।

महत्त्वपूर्ण बिंदु

-मेगा फूड पार्क के केंद्रीय प्रसंस्करण केंद्र में बनाई गई सुविधाओ में 5 हज़ार मीट्रिक टन का शीतगृह, 2550 मीट्रिक टन की क्षमता का डीप फ्रीज, 2 मीट्रिक टन/घंटे का आईक्यूएफ, 2500 मीट्रिक टन कच्चे माल के लिये ड्राई गोदाम और 5 हज़ार मीट्रिक टन तैयार माल के लिये ड्राइ गोदाम, 6500 मीट्रिक टन के साइलो, 10 मीट्रिक टन/घंटे के पैक हाउस, 8 मीट्रिक टक की क्षमता का स्टीम जनरेटर और अन्य संबधित प्रंसस्करण सुविधाएँ शामिल हैं।
-25 से 30 खाद्य प्रंसस्करण इकाइयों में 250 करोड़ रुपए का अतिरिक्त मेगा फूड पार्क से निवेश होगा और वार्षिक कारोबार 450 से 500 करोड़ रुपए तक हो सकेगा।
-मेगा फूड पार्क प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से 5000 व्यक्तियों को रोज़गार प्रदान करेगा और CPC और PPC पहुँच वाले क्षेत्रों में लगभग 2500 किसानों को इसका लाभ मिलेगा।
-मेगा फूड पार्क में निर्मित आधुनिक अवसंरचना से राजस्थान और इससे जुड़े हुए क्षेत्रों के किसान, उत्पादक, संसाधक और ग्राहकों को अत्यधिक लाभ मिलेगा और यह राजस्थान राज्य में खाद्य प्रसंस्करण क्षेत्र में वृद्धि को बढ़ावा देगा।
-खाद्य प्रसंस्करण के लिये खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय समूह आधारित दृष्टिकोण के माध्यम से मज़बूत और पिछड़े क्षेत्रों के साथ खेत से बाज़ार तक मूल्य श्रृंखला सहित मेगा फूड पार्क का सृजन कर रहा।
-यह क्षेत्र प्रधानमंत्री किसान सम्पदा योजना की फ्लैगशिप योजना के अंतर्गत परियोजनाओं के कार्यान्वयन के माध्यम से आगामी वर्षों में किसानों की आय को दोगुना करने के लिये योगदान करेगा।

Advertisement

Month:

Categories: ,

Tags: , , , ,