राष्ट्रीय ग्रामीण आर्थिक परिवर्तन परियोजना

केंद्र सरकार ने ग्रामीण आजीविका के लिए एक नयी योजना का प्रस्ताव रखा है। इस राष्ट्रीय ग्रामीण आर्थिक परिवर्तन का क्रियान्वयन दीनदयाल अन्तोदय योजना – राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत किया जायेगा।

राष्ट्रीय ग्रामीण आर्थिक परिवर्तन परियोजना

  • इस योजना का क्रियान्वयन विश्व बैंक से प्राप्त ऋण के द्वारा किया जायेगा।
  • इस परियोजना के द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों की आजीविका अर्जन के लिए कार्य किया जायेगा तथा लोगों को वित्तीय सुविधाएं उपलब्ध करवाई जायेंगी।
  • इस वित्तीय समावेश के लिए भी उपयोगी है। इसके तहत डिजिटल फाइनेंस को भी बल मिलेगा।

दीनदयाल अंत्योदय योजना – राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका अभियान

दीनदयाल अंत्योदय योजना – राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका अभियान (डीएवाई एनआरएलएम) ग्रामीण क्षेत्रों में निर्धनता उन्मूलन के लिये भारत सरकार के ग्रामीण विकास विभाग के सबसे प्रमुख कार्यक्रमों में से एक है।
इसका लक्ष्य निर्धन ग्रामीण महिलाओं को खुद की संस्थाओं – सहायता समूह एवं उनके अन्य संघों जैसे- प्रोड्यूसर्स कलेक्टिव्स एवं ऐसे अन्य संघों में संगठित होने में मदद करने के आलावा उनको आजीविका एवं वित्तीय समावेशन में मदद करना भी है।
दीनदयाल अंत्योदय योजना – राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका अभियान का एक महत्त्वपूर्ण अंग निर्धन ग्रामीण युवकों को स्वरोज़गार और मजदूरी आधारित रोज़गार के लिये प्रशिक्षण प्रदान करना है। इसके लिये मंत्रालय दीनदयाल अंत्योदय योजना – राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका अभियान के तहत दीनदयाल उपाध्याय – ग्रामीण कौशल्य योजना (डीडीयू-जीकेवाई) को लागू कर रही है।
दीनदयाल उपाध्याय – ग्रामीण कौशल्य योजना एक रोज़गार से जुड़ी कौशल विकास योजना है जिसका उद्देश्य निर्धन ग्रामीण युवाओं के कौशल का विकास करना और उन्हें ज़्यादा मज़दूरी वाले अर्थव्यवस्था के क्षेत्रों में रोज़गार दिलवाना है।

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , ,