रूस ने सफलतापूर्वक लॉन्च किया ‘ग्लोनस-एम’ उपग्रह

रूस ने सोयाज़-2.1 बी वाहक रॉकेट का उपयोग कर ग्लोनस-एम उपग्रह सफलतापूर्वक लॉन्च किया. रूस ने यह उपग्रह मिर्नी, आर्कखेंल्स्क ओब्लास्ट में प्लेसेट्स स्पेस सेंटर से सोयाज़-2.1 बी वाहक रॉकेट के बोर्ड पर लॉन्च किया है. उपग्रह ग्लोनास वैश्विक ग्लोबल पोजिशनिंग सिस्टम (जीपीएस) के बराबर सटीकता पर, दुनिया भर में सतह, समुद्र और वायुयान स्थितियों के लिए रीयल-टाइम पोजिशनिंग डेटा प्रदान करता है. उपग्रह के लॉन्च होने के साथ ही, अब कक्षा में कुल 26 ग्लोनस उपग्रह उपस्थित हैं.

मुख्य बिंदु

ग्लोनस-एम उपग्रह रेशेत्नेव सूचना उपग्रह प्रणाली द्वारा विकसित किया गया है. यह ग्लोनस उपग्रहों की पिछली पीढ़ीयों की तुलना में काफी उन्नत है. इसका आकार लगभग 2.4 X 3.7 मीटर का है. उपग्रह का विशेष भाग सीजीयम परमाणु घड़ी है जो नेविगेशन डाटा उत्पन्न करने के लिए आवश्यक सटीक समय प्रदान करती है.

ग्लोनस का उपयोग सैन्य और वाणिज्यिक ग्राहकों द्वारा किया जा रहा है. यह सटीकता पर वास्तविक समय की स्थिति और वेग निर्धारण प्रदान करता है. इसकी समय सटीकता 1000 नैनोसेकंड की है.

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , ,