लैंडिंग क्राफ्ट यूटिलिटी L-56 को भारतीय नौसेना में कमीशन किया गया

हाल ही में विशाखापत्तनम के नेवल डॉकयार्ड में लैंडिंग क्राफ्ट यूटिलिटी L-56 को भारतीय नौसेना में कमीशन किया गया। लैंडिंग क्राफ्ट यूटिलिटी गार्डन रीच शिपबिल्डर्स एंड इंजिनियर्स लिमिटेड (GRSE), कलकत्ता द्वारा निर्मित किया जाने 100वां पोत है। ऐसा कारनामा करने वाला यह देश का पहला शिपयार्ड है।

लैंडिंग क्राफ्ट यूटिलिटी L-56

यह एक उभयचर पोत है, इसका मुख्य कार्य सुरक्षित वाहनों, मुख्य युद्धक टैंक, सैनिकों तथा उपकरणों का परिवहन करना है। यह पोत पोर्ट ब्लेयर में बेस्ड होगा, यह अंदमान व निकोबार में कमांड में नेवल कॉम्पोनेन्ट कमांडर (NAVCC) के अधीन होगा।

इस पोत से अंदमान व निकोबार कमांड की समुद्री सहायता व आपदा राहत क्षमता में वृद्धि होगी। इस पोत को गश्त, खोज व बचाव कार्य, आपदा राहत ऑपरेशन, निगरानी इत्यादि के लिए किया जाएगा।

इस पोत की जल विस्थापन क्षमता 900 टन है। इसकी लम्बाई 62 मीटर है। इसमें दो MTU डीजल इंजन लगे है, इसके गति 15 नॉट से अधिक है। इसमें आधुनिकतम उपकरण लगे हुए हैं। इसमें 30 mm की दो CRN-91 गन लगी हुई हैं। इस पोत में चार अफसर तथा 56 सेलर हैं, यह पोत 150 सैनिकों को ले जाने में सक्षम है।

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , ,