वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री ने आईपीआर जागरूकता हेतु प्रतीक चिन्ह मस्कटआईपी ​​नानी का शुभारंभ किया

दिल्ली में हुए सम्मेलन में आईपीआर संवर्धन तथा प्रबंधन प्रकोष्ठ राष्ट्रीय बौद्धिक संपदा कानून के दो वर्ष पूरे होने पर वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री ने राष्ट्रीय संपदा के प्रतीक चिन्ह मस्कट आईपी नानी का शुभारंभ किया। इस दौरान एंटी पायरेसी वीडियो भी लांच किया। इस विडियो में अमिताभ बच्चन ने विशेष भूमिका निभाई है।

मुख्य तथ्य

० राष्ट्रीय आईपीआर नीति 2016 का पहला और सबसे प्रमुख उद्देश्य “आईपीआर जागरूकता: आउटरीच तथा प्रमोशन” है।
० मस्कट आईपी नानी तकनीक को समझने और उपयोग करने वाली एक नानी है, जो अपने पोते ‘छोटू’ आदित्य की सहायता से आईपी अपराधों से लड़ने में सरकार तथा एजेंसियों की सहायता करती है।
० यह मस्कट आईपी नानी लोगों विशेषकर बच्चों में बौद्धिक संपदा अधिकार के प्रति जागरूकता फैलायेगा।
० केन्द्रीय कैबिनेट ने 12 मई 2016 को राष्ट्रीय आईपीआर नीति को मंजूरी दी थी।

बौद्धिक संपदा

ब्रिटेन के जेरेमी फिलिप्स (इन्ट्रोडक्शन टू इन्टेलेक्चुअल प्रॉपर्टी लॉ-संस्करण 1986) के अनुसार, “बौद्धिक संपदा का अर्थ ऐसी वस्तुओं से है जो व्यक्ति द्वारा उसकी स्वयं की बुद्धि के प्रयोग से उत्पन्न होती है।

देश में बौद्धिक संपदा अधिकार से जुड़े मौज़ूद कानून

वस्तुओं के भौगोलिक संकेत (पंजीकरण और संरक्षण) अधिनियम, 1999; पेटेंट अधिनियम, 1970 ; व्यापार चिन्ह अधिनियम, 1999; डिज़ाइन अधिनियम 2000; कॉपीराइट अधिनियम, 1957; पौधा किस्म और कृषक अधिकार संरक्षण अधिनियम, 2001; सेमीकंडक्टर एकीकृत परिपथ अभिन्यास डिज़ाइन अधिनियम, 2000 और जैव विविधता अधिनियम, 2002

                          

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , ,