विनिर्माण क्षेत्र विकास अब तक के सबसे उच्चतम स्तर पर

आईएचएस मार्किट द्वारा संकलित निक्केई इंडिया मैन्युफैक्चरिंग पर्चेजिंग मैनेजर्स इंडेक्स (PMI) के मुताबिक, भारत की विनिर्माण वृद्धि जून 2018 में छह महीने के उच्चतम स्तर तक पहुंच चुकी है. जून 2018 में विनिर्माण पीएमआई बढ़कर 53.1 हुआ है, जो दिसंबर 2017 में 51.2 था.

पर्चेजिंग मैनेजर्स इंडेक्स (PMI)

पीएमआई विनिर्माण और सेवाओं दोनों क्षेत्रों में व्यापार गतिविधि का संकेतक है. यह एक सर्वेक्षण-आधारित सूचकांक मापन है, जो उत्तरदाताओं से उनके पिछले कुछ महीनों के महत्वपूर्ण व्यावसायिक बदलावों के बारे में जानकारी लेता है. विनिर्माण और सेवा क्षेत्रों के लिए इसकी अलग से गणना की जाती है और फिर समग्र सूचकांक का निर्माण किया जाता है. यह लगातार 11 वां महीना है जब विनिर्माण पीएमआई सूचकांक 50-अंक से ऊपर रहा है.

पीएमआई आमतौर पर महीने की शुरुआत में जारी किया जाता है, जो औद्योगिक उत्पादन, विनिर्माण और सकल घरेलू उत्पाद की वृद्धि पर अधिकांश आधिकारिक आंकड़े उपलब्ध कराता है. इसलिए, इसे आर्थिक गतिविधि के अच्छे अग्रणी संकेतक के रूप में माना जाता है. पीएमआई द्वारा मापा गया विनिर्माण विकास औद्योगिक उत्पादन का भी अच्छा संकेतक माना जाता है.

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , ,