सार्वजनिक उद्यम सर्वेक्षण 2017-18

हाल ही में संसद में सार्वजनिक उद्यम सर्वेक्षण 2017-18 प्रस्तुत किया गया, इस सर्वेक्षण में विभिन्न केन्द्रीय सार्वजनिक क्षेत्र की इकाइयों के प्रदर्शन का आकलन किया गया है।  यह सर्वेक्षण सार्वजनिक उद्यम, केन्द्रीय भारी उद्योग व सार्वजनिक उद्यम द्वारा किया गया था।

मुख्य बिंदु

  • 2017-18 में इंडियन आयल कारपोरेशन, ONGC और NTPC सबसे अधिक लाभ कमाने वाली सरकारी कंपनियां हैं। केन्द्रीय सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यम कुल लाभ में इनका क्रमश: 13.37%, 12.49% तथा 6.48% था।
  • लाभकारी कंपनियों की सूची में चौथे और पांचवें स्थान पर कोल इंडिया और पॉवर ग्रिड कारपोरेशन हैं।
  • लाभकारी कंपनियों की टॉप 10 सूची में पॉवर फाइनेंस कारपोरेशन भी शामिल हुआ।
  • कुल लाभ में सभी 184 सरकारी लाभकारी कंपनियों में टॉप 10 का योगदान ही 61.83% था।
  • 2017-18 के दौरान सबसे अधिक नुकसान वाली सरकारी कंपनियां बीएसएनएल, एयर इंडिया और MTNL हैं, कुल नुकसान में इन तीनों का योगदान ही 52.15% है।
  • कुल नुकसान में टॉप 10 नुकसान वाली सरकारी कंपनियों का हिस्सा 84.71% था, इस बार कुल 71 केन्द्रीय सरकारी सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यम घाटे में रहे।
  • भारत कुकिंग कोल लिमिटेड भी इस बार घाटे वाली कंपनियों की सूची में शामिल हुई।
  • 2016-17 तक इंडिया इन्फ्रास्ट्रक्चर को. तथा ईस्टर्न कोलफील्ड लाभ कमा रही थीं, इस बार यह कंपनियां भी घाटे वाली कंपनियों की टॉप 10 सूची में शामिल हो गयी हैं।

2017-18 में कुल 339 केन्द्रीय सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यम थे, इसमें में 257 कार्यशील थे जबकि शेष 82 उद्यम निर्माणाधीन थे।

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , ,