स्मार्ट इंडिया हैकाथन के तीसरे संस्करण को किया गया लांच

केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने स्मार्ट इंडिया हैकाथन 2019 को लांच किया। स्मार्ट इंडिया हैकाथन विश्व का सबसे बड़ा ओपन इनोवेशन मॉडल है, इसका उद्देश्य छात्रों को रोज़मर्रा की समस्याओं के समाधान के एक प्लेटफार्म प्रदान करना है।

मुख्य बिंदु

स्मार्ट इंडिया हैकाथन 2019 में देश भर के 3000 के एक लाख से अधिक छात्र हिस्सा लेंगे। इस हैकाथन में छात्रों को सार्वजनिक क्षेत्र तथा केन्द्रीय मंत्रालय की समस्याओं का समाधान ढूँढने के मौका मिलेगा। इस बार स्मार्ट इंडिया हैकाथन में पहली बार निजी क्षेत्र तथा गैर-सरकारी संगठनों की समस्याओं को भी शामिल किया जायेगा।

स्मार्ट इंडिया हैकाथन में दो सॉफ्टवेर और हार्डवेयर एडिशन भी होंगे। सॉफ्टवेर एडिशन में प्रतिस्पर्धा में 36 घंटे में समस्या के समाधान के लिए सॉफ्टवेर उत्पादन का निर्माण करना होता है। जबकि हार्डवेयर एडिशन में समस्या के समाधान के लिए 5 दिन का समय दिया जाता है।

स्मार्ट इंडिया हैकाथन 2019 में IIT, IISC, NIT, AICTE और UGC मान्यता प्राप्त संस्थान भाग लेंगे। इस हैकाथन में समस्याओं के समाधान के लिए प्रतिभागियों द्वारा नवीन व तकनीकी समाधान उपलब्ध करवाए जाते हैं।

स्मार्ट इंडिया हैकाथन के लाभ

युवाओं को राष्ट्रीय स्तर पर अपने संगठन को प्रस्तुत करने के मौका।

बड़ी तकनीकी कंपनियों में रोज़गार के अवसर।

विश्व का सबसे बड़ा मुक्त नवोन्मेष मॉडल।

युवाओं को अपने नवीन विचारों को साझा करने का अवसर मिलेगा।

देश के बड़े तकनीकी संस्थानों के लगभग 1 लाख छात्रों की विशेषज्ञता का उपयोग।

पृष्ठभूमि

इससे पहले स्मार्ट इंडिया हैकाथन के दो संस्करण काफी सफल रहे थे। स्मार्ट इंडिया हैकाथन में 29 केन्द्रीय मंत्रालय ने समस्याएं प्रस्तुत की थीं। सर्वश्रेष आइडियाज में से 20 प्रोजेक्ट्स को चुना गया और उन्हें मार्गदर्शन प्रदान किया गया। बाद में उन उत्पादों को विकसित करके सम्बंधित मंत्रालयों को सौंपा गया। स्मार्ट इंडिया हैकाथन  2018 में 27 केन्द्रीय मंत्रालयों तथा 17 राज्य सरकारों ने हिस्सा लिया था। इस दौरान पहली बार हार्डवेयर एडिशन को शुरू किया गया था।

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , ,