हिंदुस्तान एयरोनॉटिकल लिमिटेड ने किया 6 किलोमीटर की ऊंचाई तक उड़ान भरने वाले लाइट यूटिलिटी हेलीकाप्टर का विकास

हाल ही में हिंदुस्तान एयरोनॉटिकल लिमिटेड ने 6 किलोमीटर की ऊंचाई तक उड़ान भरने वाले लाइट यूटिलिटी हेलीकाप्टर का विकास किया, इस हेलीकाप्टर का विकास कर्नाटक के बंगलुरु में किया गया है। इसकी पहली उड़ान सितम्बर, 2016 में भरी गयी थी, इसके दूसरे प्रोटोटाइप को मई, 2017 में उड़ाया गया था।

हाल में इसकी परीक्षण उड़ान में हेलीकाप्टर का प्रदर्शन संतोषजनक था। यह हेलीकाप्टर ठण्ड क्षेत्रों में ऊंचाई पर उड़ान भरने का प्रयास करेगा, यह परीक्षण उड़ान जनवरी, 2019 में भरी जायेगी।

लाइट यूटिलिटी हेलीकाप्टर

यह हेलीकाप्टर की तीन टन की नयी पीढ़ी है, इसका डिजाईन व विकास स्वदेशी रूप से हिंदुस्तान एरोनॉटिक्स लिमिटेड के रोटरी विंग रिसर्च एंड डिजाईन सेण्टर द्वारा किया जाता है। यह नए हेलीकाप्टर भारतीय सशस्त्र सेनाओं के पुराने हो रहे चीता और चेतक हेलीकाप्टर का स्थान लेंगे।

यह हेलीकाप्टर 220 किलोमीटर प्रति घंटा की गति से उड़ान भर सकते हैं, यह 6.5 किलोमीटर की ऊंचाई पर उड़ान भर सकते हैं। यह 400 किलोग्राम पेलोड के साथ 350 किलोमीटर की रेंज में उड़ान भर सकते हैं। इसमें ग्लास कॉकपिट का उपयोग किया जय है। इसमें TM/HAL Ardiden 1U/शक्ति 1U सिंगल टर्बो शाफ़्ट इंजन का उपयोग किया गया है।

यह हेलीकाप्टर सैन्य तथा असैन्य दोनों तरह के कार्य के लिए उपयोगी है। इसका उपयोग निगरानी तथा हलके सामान के परिवहन के लिए किया जा सकता है। हिंदुस्तान एयरोनॉटिकल लिमिटेड के पास 187 लाइट यूटिलिटी हेलीकाप्टर की मांग है, इसमें 126 हेलीकाप्टर भारतीय सेना तथा 61 भारतीय वायुसेना के लिए शामिल है।

हिंदुस्तान एयरोनॉटिकल लिमिटेड (HAL)

यह सरकारी एयरोस्पेस व रक्षा कंपनी है, यह कर्नाटक के बंगलुरु में स्थित है। यह केन्द्रीय रक्षा मंत्रालय के अधीन कार्य करती है। यह भविष्य के एयरक्राफ्ट तथा एरोइंजन टेक्नोलॉजी के विकास के लिए कार्य करता है। HAL अब तक ध्रुव एडवांस्ड लाइट हेलीकाप्टर, मल्टी रोल सेवेन सीटर चेतक हेलीकाप्टर, लाइट कॉम्बैट हेलीकाप्टर चीता और लांसर इत्यादि का विकास किया है।

 

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , , ,