17वीं आसियान-भारत आर्थिक मंत्रियों की वार्ता का आयोजन किया गया

आसियान-भारत आर्थिक मंत्रियों की वार्ता वर्चुअली आयोजित की गयी। भारत का प्रतिनिधित्व केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्री श्री पीयूष गोयल ने किया।

मुख्य बिंदु

इस बैठक में 10 आसियान देशों के वाणिज्य मंत्रियों ने भाग लिया। इसमें मलेशिया, थाईलैंड, लाओस, वियतनाम, इंडोनेशिया, सिंगापुर, ब्रुनेई, म्यांमार, कंबोडिया और फिलीपींस शामिल थे। बैठक में नेताओं ने निम्नलिखित में अपनी प्रतिबद्धता की पुष्टि की :

  • वित्तीय स्थिरता सुनिश्चित करने के लिए
  • लचीली आपूर्ति श्रृंखला
  • आवश्यक सामानों और दवाओं का निर्बाधित  प्रवाह

इस बैठक के दौरान आसियान-भारत व्यापार परिषद की रिपोर्ट प्रस्तुत की गई। रिपोर्ट में AITIGA की समीक्षा करने की सिफारिश की गई थी। AITIGA का पूर्ण स्वरुप ASEAN India Trade in Goods Agreement है।

AITIGA क्या है?

AITIGA दस आसियान सदस्यों और भारत के बीच एक मुक्त व्यापार समझौता है। यह 2010 में हस्ताक्षरित किया गया था। इस समझौते के अनुसार, भागीदारों ने यथासंभव अधिक सामानों पर शुल्क को समाप्त करने के लिए एक समय रेखा निर्धारित की है।

समीक्षा की आवश्यकता क्यों है?

  • समझौता लागू होने के बाद से भारत का व्यापार घाटा बढ़ा है। इस प्रकार, भारत एक समीक्षा की मांग कर रहा है। नीति आयोग के अनुसार, भारत और आसियान  के बीच व्यापार घाटा 2011 और 2017 के बीच दोगुना हो गया। यह 2011 में 5 बिलियन अमरीकी डालर था और 2017 में बढ़कर 10 बिलियन अमरीकी डालर हो गया।
  • व्यापार घाटे के बढ़ने का मुख्य कारण भारतीय व्यापारियों द्वारा एफटीए मार्ग का कम उपयोग है।

एक्ट ईस्ट पॉलिसी

आसियान-भारत साझेदारी मुख्य रूप से भारत की एक्ट ईस्ट पालिसी द्वारा व्याप्त है। एक्ट ईस्ट पॉलिसी लुक ईस्ट पॉलिसी का उन्नयन है जिसे 1991 में लॉन्च किया गया था। एक्ट ईस्ट पॉलिसी 2014 में पीएम मोदी द्वारा भारत और हिन्द-प्रशांत के बीच सुरक्षा और आर्थिक संबंधों को बढ़ावा देने के लिए शुरू की गई थी। पहले लुक ईस्ट पॉलिसी केवल आर्थिक संबंधों पर केंद्रित थी।

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , ,