5 मार्च को लांच किया जाएगा GISAT-1 उपग्रह

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) भारतीय उपमहाद्वीप की लगातार निगरानी के लिए GISAT 1 (अर्थ-इमेजिंग सैटेलाइट) लॉन्च करने जा रहा है।

मुख्य बिंदु

इसरो द्वारा 5 मार्च, 2020 को उपग्रह का प्रक्षेपण किया जायेगा। इस उपग्रह को जीएसएलवी-एफ 10 रॉकेट द्वारा लांच किया जाएगा। इस उपग्रह का वजन 2,275 किलोग्राम है और इसे जियोसिंक्रोनस कक्षा में स्थापित किया जाएगा।

GISAT

जीआईएसएटी भू-सूचना उपग्रह (Geo-Information Satellite) है। यह उपग्रह पृथ्वी का पूरा चक्कर लगाएगा और हर 2 घंटे में एक ही बिंदु पर आएगा। यह उपग्रह तेजी से निगरानी और इमेजिंग करने में सक्षम है। इसरो ने उपग्रह को इस तरह से डिजाइन किया है कि आवश्यकता पड़ने पर यह उपग्रह एक लंबी अवधि के लिए एक बिंदु का निरीक्षण कर सकता है।

यह इसरो द्वारा 2020 में लॉन्च किया जाने वाला पहला उपग्रह है। GISAT के बाद, देश की अंतरिक्ष निगरानी शक्ति को बढ़ावा देने के लिए 10 और उपग्रहों को लॉन्च किया जायेगा। इन उपग्रहों से सीमा सुरक्षा को मजबूत करने और आतंकवादी घुसपैठ को नियंत्रित करने में भी मदद मिलेगी।

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , , , ,