ICMR ने यूजर-फ्रेंडली PPE ‘नवरक्षक’ को मंजूरी दी

एक महीने के भीतर, उपयोगकर्ता के लिए अनुकूल व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण (PPE) किट जिसे ‘नवरक्षक’ के नाम से जाना जाता है, भारतीय बाजार में उपलब्ध होने की उम्मीद है क्योंकि भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) ने बड़े पैमाने पर उत्पादन के लिए इस सप्ताह के शुरू में इसे मंजूरी दे दी है। पीपीई प्रोटोटाइप नमूना परीक्षण के लिए नौ अधिकृत एनएबीएल मान्यता प्राप्त प्रयोगशालाओं में से एक, इंस्टीट्यूट ऑफ न्यूक्लियर मेडिसिन एंड एलाइड साइंसेज (एक डीआरडीओ प्रयोगशाला) ने भी परीक्षण के बाद पीपीई किट को प्रमाणित किया है।

नवरक्षक

इस पीपीई किट को मुंबई महाराष्ट्र में INHS अश्विनी में स्थित इंस्टीट्यूट ऑफ नेवल मेडिसिन के इनोवेशन सेल में एक नौसैनिक डॉक्टर द्वारा विकसित किया गया था।

यह किट दो संस्करणों में उपलब्ध होगी: सिंगल और डबल प्लाई। पूरी किट में फेस मास्क, हेडगियर और एक मिड-थाई लेवल शो कवर शामिल होगा। किट की खासियत बाजार में उपलब्ध अन्य पीपीई की तुलना में इसका संवर्धित श्वासयंत्र है, इससे स्वास्थ्य कर्मियों को लंबे समय तक काम करने के दौरान महामारी के खिलाफ फ्रंटलाइन में काम करने की सुविधा मिलेगी।

नवरक्षक पीपीई का उत्पादन

5 सूक्ष्म, लघु व मध्यम उद्योगों (MSME) को इस पीपीई किट के उत्पादन का लाइसेंस मिला है। राष्ट्रीय अनुसंधान विकास निगम (NRDC) ने यह लाइसेंस जारी किए हैं। एक वर्ष में एक साथ 5 एमएसएमई द्वारा 10 मिलियन से अधिक नवआरक्षक पीपीई का उत्पादन किए जाने की उम्मीद है।

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , ,