करेंट अफेयर्स - नवंबर, 2019 Page-56

इस श्रेणी में करेंट अफेयर्स - नवंबर, 2019 में प्रकाशित हिन्दी भाषा के करेंट अफेयर्स (समाचार सारांश) एवं समसामयिक घटनाक्रम का SSC, Railways, RAS/RPSC, BPSC, MPPSC, JPSC, HPSC, UPPSC, UKPSC एवं अन्य प्रतियोगिता परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण समाचारों का संग्रह किया गया है।

भारत-आसियान शिखर सम्मेलन 2019

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बैंकाक में 16वें भारत-आसियान शिखर सम्मेलन में हिस्सा लिया है। वर्त्तमान में आसियान शिखर सम्मेलन का आयोजन थाईलैंड के बैंकाक में किया जा रहा है। 2020 में अगले आसियान शिखर सम्मेलन का आयोजन वियतनाम में किया जायेगा। मुख्य बिंदु भारत ने भौतिक तथा डिजिटल कनेक्टिविटी को सुधारने के लिएRead More...

मेड्रिड में किया जायेगा COP 25 का आयोजन

स्पेन की राजधानी मेड्रिड में विश्व के वार्षिक जलवायु सम्मेलन ‘COP-25’ (कांफ्रेंस ऑफ़ पार्टीज) का आयोजन किया जायेगा। इस सम्मेलन का आयोजन 2 से 13 दिसम्बर, 2019 के दौरान किया जायेगा। चिली देश ने जारी विरोध प्रदर्शन के चलते COP-25 की मेजबानी से अलग हुआ है। कांफ्रेंस ऑफ़ पार्टीज क्या है? कांफ्रेंस ऑफ़ पार्टीज संयुक्त राष्ट्र जलवायुRead More...

भारत 2020 में करेगा SCO की CHG में बैठक का आयोजन

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने हाल ही में उज्बेकिस्तान के ताशकंद में शंघाई सहयोग संगठन (SCO) की कौंसिल ऑफ़ हेड्स ऑफ़ गवर्नमेंट को संबोधित किया। उन्होंने सम्मेलन में प्रधानमंत्री मोदी के विशेष दूत के रूप में प्रतिनिधित्व किया। इस बैठक के दौरान यह तय किया गया कि कौंसिल ऑफ़ हेड्स ऑफ़ गवर्नमेंट की अगली बैठक का आयोजन 2020Read More...

प्रधानमंत्री मोदी ने जारी किये स्मारक सिक्के

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी इन दिनों थाईलैंड की आधिकारिक यात्रा पर हैं, वहां पर वे आसियान RCEP तथा ईस्ट एशिया समिट में हिस्सा लेंगे। प्रधानमंत्री मोदी ने बैंकाक में ‘सवास्दी पीएम मोदी’ इवेंट में भारतीय मूल के लोगों को संबोधित किया। इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने गुरु नानक देव की 550वीं जयंती पर स्मारक सिक्केRead More...

उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू ने जारी किया 15 सूत्रीय चार्टर

29 अक्टूबर, 2019 को, उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने संसद और राज्य विधानसभाओं के प्रभावी कामकाज को सक्षम करने के लिए एक नए राजनीतिक सामान्य के लिए 15-सूत्रीय सुधार चार्टर का अनावरण किया। चार्टर पूर्व और विधायी प्रभाव का आकलन किया जाना चाहिए। संसद की विभाग संबंधी स्थायी समितियों के कामकाज को वर्तमान में हर साल पुनर्गठनRead More...