PM SVANidhi योजना: स्ट्रीट वेंडर्स से 5 लाख ऋण आवेदन प्राप्त हुए

12 अगस्त, 2020 को भारत सरकार को PM-SVANidhi योजना के तहत इसके लॉन्च के 41 दिनों में 5 लाख से अधिक आवेदन प्राप्त हुए हैं। स्ट्रीट वेंडर्स को लाभ पहुंचाने के लिए यह योजना शुरू की गई थी। PM SVANidhi  का पूर्ण स्वरुप ‘पीएम स्ट्रीट वेंडर्स आत्म निर्भर निधि’ है।

मुख्य बिंदु

इस योजना के तहत स्वीकृत ऋणों की संख्या 1 लाख को पार कर गई है। सरकार का लक्ष्य इस योजना के तहत स्ट्रीट वेंडर्स को 10,000 रुपये तक का ऋण प्रदान करना है। यह आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय द्वारा आत्म निर्भर भारत अभियान के तहत शुरू किया गया था। इस योजना का उद्देश्य शहरी, अर्ध-शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों के 50 लाख स्ट्रीट वेंडरों को ऋण की सुविधा देना है।

योजना के बारे में

यह योजना प्रति वर्ष 7% की दर से ब्याज अनुदान के रूप में प्रोत्साहन प्रदान करती है। यह योजना 1,200 रुपये प्रति वर्ष तक का कैश बैक भी प्रदान करती है। माइक्रो फाइनेंस इंस्टीट्यूशंस और नॉन-बैंकिंग फाइनेंशियल कंपनियां योजना के तहत ऋण देने वाली संस्था के रूप में कार्यरत्त हैं।

 PM-SVANidhi योजना

यह योजना स्ट्रीट वेंडर्स के लिए राहत लेकर आई है। यह योजना जून 2020 में शुरू की गई थी। इसे स्ट्रीट वेंडर्स की मदद के लिए लॉन्च किया गया था ताकि COVID-19 लॉक डाउन के कारण वे अपनी आजीविका फिर से शुरू कर सकें।

योजना की मुख्य विशेषताएं

  • यह योजना मार्च 2022 तक चलेगी।
  • भारतीय लघु उद्योग विकास बैंक (SIDBI) इस योजना को लागू करने के लिए तकनीकी भागीदार है।
  • यह योजना सूक्ष्म और लघु उद्यमों के लिए क्रेडिट गारंटी फंड ट्रस्ट के माध्यम से संस्थानों को उधार देने के लिए क्रेडिट गारंटी का प्रबंधन करेगी।
  • यह योजना उन वेंडरों, ठेलेवालों, हॉकर्स पर लागू होती है जो माल और सेवाओं की आपूर्ति करते हैं। आसपास के शहरी, अर्ध-शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों के स्ट्रीट वेंडर भी इस योजना में शामिल हैं।

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , ,