इसरो Page-4

इस श्रेणी में इसरो से संबन्धित हिन्दी भाषा के करेंट अफेयर्स (समाचार सारांश) एवं समसामयिक घटनाक्रम का SSC, Railways, RAS/RPSC, BPSC, MPPSC, JPSC, HPSC, UPPSC, UKPSC एवं अन्य प्रतियोगिता परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण समाचारों का संग्रह किया गया है।

इसरो ने लांच की भुवन पंचायत 3.0

29 जनवरी, 2020 को भारतीय अन्तरिक्ष अनुसन्धान संगठन (इसरो) ने भुवन पंचायत 3.0 को लांच किया। मुख्य बिंदु इस प्रोजेक्ट के तहत इसरो ग्राम पंचायत के सदस्यों के साथ मिलकर कार्य करेगा। यह पोर्टल इसरो की उपग्रह टेक्नोलॉजी के आधार पर कार्य कर रहा है। यह प्रोजेक्ट दो वर्ष तक चलेगा। इस प्रोजेक्ट की सहायता से ग्रामीण विकास नियोजनRead More...

आज के मुख्य समाचार : 23 जनवरी, 2020

प्रतियोगी परीक्षाओं की दृष्टि से महत्वपूर्ण 23 जनवरी, 2020  के मुख्य समाचार निम्नलिखित हैं : राष्ट्रीय करेंट अफेयर्स                            कैबिनेट ने अन्य पिछड़ा वर्ग  उपवर्गीकरण आयोग के कार्यकाल को 31 जुलाई, 2020 तक बढ़ाया इसरो गगनयान मिशन से पहले ‘व्योमित्र’ नामक रोबोट को अन्तरिक्ष में भेजेगा प्रधानमंत्री मोदीRead More...

इसरो ने ‘व्योमित्र’ नामक ह्यूमनॉइड रोबोट को प्रदर्शित किया

हाल ही में इसरो ने ‘व्योमित्र’ नामक ह्यूमनॉइड रोबोट को प्रदर्शित किया। यह रोबोट इंसानों की तरह बात करती है, इसे गगनयान को लांच करने से पहले अन्तरिक्ष में भेजा जाएगा। मिशन गगनयान भारतीय अन्तरिक्ष अनुसन्धान संगठन (इसरो) ने मिशन गगनयान के लिए दिसम्बर, 2021 को डेडलाइन निश्चित की है। गगनयान के लिए अन्तरिक्षयात्रियोंRead More...

क्वालकॉम ने इसरो के नाविक के साथ एंड्राइड स्मार्टफ़ोन के लिए प्रथम चिपसेट का निर्माण किया

अमेरिकी सेमीकंडक्टर व दूरसंचार उपकरण निर्माता कंपनी क्वालकॉम ने हाल ही में इसरो के नाविक (NavIC) जीपीएस के साथ एंड्राइड स्मार्टफ़ोन के लिए प्रथम चिपसेट का निर्माण किया है। क्वालकॉम के इन नए चिपसेट में नाविक नेविगेशन सिस्टम का उपयोग किया जाएगा। ग्लोबल नेविगेशन सिस्टम के 24 उपग्रहों के मुकाबले नाविक में 7 उपग्रहRead More...

भारत के GSAT-30 उपग्रह को फ्रेंच गुयाना से सफलतापूर्वक लांच किया गया

17 जनवरी, 2020 को भारत के GSAT-30 उपग्रह को फ्रेंच गुयाना से लांच किया गया, इसे एरियनस्पेस द्वारा लांच किया गया। इस उपग्रह की सहायता से INSAT-4A को रीप्लेस किया जायेगा। GSAT-30 उपग्रह एक संचार उपग्रह है। यह सैटेलाइट 15 वर्षों तक कार्य करेगा। इसका निर्माण इसरो ने किया है। इस उपग्रह का उपयोग DTH टेलीविज़न सेवाओं, सेलुलर कनेक्टिविटी,Read More...