भारत में बेरोज़गारी

इस श्रेणी में भारत में बेरोज़गारी से संबन्धित हिन्दी भाषा के करेंट अफेयर्स (समाचार सारांश) एवं समसामयिक घटनाक्रम का SSC, Railways, RAS/RPSC, BPSC, MPPSC, JPSC, HPSC, UPPSC, UKPSC एवं अन्य प्रतियोगिता परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण समाचारों का संग्रह किया गया है।

जून 2020 में बेरोजगारी दर 23.5% से कम होकर 10.9% हो गई

8 जून, 2020 से अनलॉक 1 के साथ आर्थिक गतिविधियों के परिणामस्वरूप दो महीने के बाद बेरोजगारी की दर में काफी गिरावट आई  है। सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकोनॉमी (CMIE) द्वारा जारी जून 2020 के महीने के आंकड़ों के अनुसार, जून 2020 में बेरोजगारी की दर भारत में 10.9 प्रतिशत (शहरी -12.02% और ग्रामीण- 10.52%) थी। देशभर में अप्रैल के महीने में बेरोजगारीRead More...

मंत्री समूह ने रोजगार और कौशल विकास पर मसौदा प्रस्ताव प्रस्तुत किया

सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री के नेतृत्व में गठित मंत्री समूह की समिति ने हाल ही में रोजगार और कौशल विकास पर अपने मसौदा प्रस्ताव प्रस्तुत किया। प्रस्ताव ड्राफ्ट में निम्नलिखित प्रस्ताव शामिल हैं : मसौदे में "लैंड पूलिंग मॉडल" का प्रस्ताव दिया गया है। इस मॉडल का उपयोग ग्रीनफील्ड हवाई अड्डों में कियाRead More...

बेरोजगारी दर 27.1% तक पहुँच गयी है : CMIE

5 मई, 2020 को भारतीय अर्थव्यवस्था की निगरानी के केंद्र (CMIE) ने बेरोजगारी के आंकड़े जारी किए। आंकड़ों के मुताबिक इस समय 121.5 मिलियन लोगों के पास काम नही है। मुख्य बिंदु डाटा में कहा गया है कि COVID-19 संकट के कारण 91.3 मिलियन दिहाड़ी मजदूर बेरोजगार हैं। इसके अलावा, 18.2 मिलियन उद्यमी बिना काम के हैं क्योंकि मजदूरों की कमी है। COVID-19Read More...

लॉक डाउन के कारण भारत में बेरोजगारी दर बढ़कर 23% हुई

सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकोनॉमी (CMIE) ने हाल ही में भारत में मौजूदा बेरोजगारी की स्थिति पर एक सर्वेक्षण जारी किया। इस सर्वेक्षण के अनुसार, लॉक डाउन के बाद से 20% से अधिक लोगों ने अपनी नौकरी खो दी है। मुख्य बिंदु इस रिपोर्ट में कहा गया है कि मार्च के महीने में बेरोजगारी की दर फरवरी में 7.8% की तुलना में 8.7% रहने की उम्मीदRead More...

माइंड द गैप – स्टेट ऑफ़ एम्प्लॉयमेंट

ऑक्सफेम इंडिया ने हाल ही में माइंड द गैप – स्टेट ऑफ़ एम्प्लॉयमेंट नामक रिपोर्ट  जारी की, इस रिपोर्ट के मुख्य बिंदु निम्नलिखित हैं : भारतीय श्रम बाज़ार में गुणवत्ता युक्त नौकरी की कमी तथा मजदूरी दर में बढ़ती असमानता आम है। इस रिपोर्ट के अनुसार कार्यबाल में अभी भी महिलाओं की भागीदारी काफी कम है। इस रिपोर्ट केRead More...