ICMR Page-5

इस श्रेणी में ICMR से संबन्धित हिन्दी भाषा के करेंट अफेयर्स (समाचार सारांश) एवं समसामयिक घटनाक्रम का SSC, Railways, RAS/RPSC, BPSC, MPPSC, JPSC, HPSC, UPPSC, UKPSC एवं अन्य प्रतियोगिता परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण समाचारों का संग्रह किया गया है।

COVID-19 परीक्षण के लिए ICMR ने टीबी मशीनें को मंज़ूरी दी

हाल ही में  भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद ने COVID-19 परीक्षणों के संचालन के लिए टीबी मशीन के उपयोग को मंजूरी दी। मुख्य बिंदु वर्तमान में भारत अमेरिका द्वारा अनुशंसित और FDA द्वारा अनुमोदित RT-PCR (रियल टाइम-पॉलीमरेज़ चेन रिएक्शन) परीक्षण का उपयोग कर रहा है। इसके साथ ही ICMR ने Truenat टेस्ट के इस्तेमाल की सिफारिश की है। TruenatRead More...

JEEVAN: रेलवे ने कम लागत वाला वेंटीलेटर प्रोटोटाइप बनाया; ICMR करेगा प्रोटोटाइप का परीक्षण

रेल कोच फैक्ट्री, कपूरथला ने ‘JEEVAN’ नामक एक कम लागत वाला ऊर्जा कुशल वेंटिलेटर बनाया है। यह वेंटिलेटर अन्य वेंटिलेटरों के मुकाबले बहुत सस्ता है। मुख्य बिंदु इस प्रोटोटाइप का बड़े पैमाने पर उत्पादन करने से पहले ICMR द्वारा इसका परीक्षण किया जायेगा। बिना कंप्रेसर के इस मशीन की कीमत लगभग 10,000 रुपये है। वेंटिलेटर मेंRead More...

COVID-19 के हॉटस्पॉट क्षेत्रों की पहचान की गयी, हॉटस्पॉट्स में एंटीबॉडी टेस्ट को मंजूरी दी गयी

केन्द्रीय स्वास्थ्य व परिवार कल्याण मंत्रालय ने देश में कुल 20 COVID-19 हॉटस्पॉट्स की पहचान की है। हालांकि देश में अभी सामुदायिक प्रसार नहीं हुआ हैं। इसके अलावा 22 संभावित हॉटस्पॉट्स की पहचान की गई है। एंटीबॉडी टेस्ट इन हॉटस्पॉट्स की पहचान के बाद ICMR (इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च) को इन क्षेत्रों में कार्रवाई करनेRead More...

भारत COVID-19 के डब्ल्यूएचओ परीक्षणों में हिस्सा लेगा

28 मार्च, 2020 को ICMR (इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च) ने घोषणा की कि भारत विश्व स्वास्थ्य संगठन के परीक्षणों में हिस्सा लेगा। इस परीक्षण के द्वारा COVID-19 के प्रकोप के संभावित इलाज की पहचान करने का प्रयास किया जाएगा। मुख्य बिंदु अब तक भारत में COVID-19 संक्रमित मामलों की संख्या काफी कम थी। अब देश में इन मामलों की संख्या 1000Read More...

हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन दवा को H1 दवा घोषित किया गया, निर्यात पर प्रतिबन्ध लगाया गया

ड्रग्स एंड कॉस्मेटिक्स नियमों के तहत अनुसूची एच 1 के तहत वर्गीकृत दवाओं को ‘ओवर द काउंटर’ नहीं बेचा जा सकता। यह अनुसूची वर्ष 2013 में पेश की गई थी। इससे पहले इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) ने फ्रंट लाइन चिकित्साकर्मियों और उच्च जोखिम वाले लोगों के लिए इस दवा की सिफारिश की थी जो कोरोनोवायरस संक्रमित रोगी केRead More...